वास्तु के अनुसार कैसा हो हमारा रसोईघर!


वास्तुऔररसोईघर
वास्तु और रसोईघर!

रसोई घर को यदि घर का स्वास्थ्य मंत्रालय कहा जाये तो अनुचित नहीं होगा। क्योंकि यदि हम अपने घर में रसोईघर के वास्तु की अनदेखी करेंगेे तो न केवल गृहणी बल्कि घर केे अन्य सदस्य भी स्वस्थ नहीं रह पायेंगे। देखने में आता है कि वास्तु के विपरित बनायी गयी रसोई किचिन-एक्सीडेन्ट को तो बढ़ावा देती ही है साथ ही अनचाहे मेहमानों की संख्या में भी बढ़ोतरी करती है। प्रस्तुत हैं किचिन के लिये कुछ महत्वपूर्ण वास्तु जानकारियां-
 लेखक-संजय कुमार गर्ग  sanjay.garg2008@gmail.com (All rights reserved.)
1-रसोई के लिये सबसे महत्वपूर्ण दिशा आग्नेय कोण (SE) मानी जाती है।
2-यदि किसी कारणवश घर के आग्नेय कोण में रसोई नहीं बन सके तो इसका निर्माण घर के नैरूत (SW) या वायव्ह (NW) हिस्से के आग्नेय भाग में किया जा सकता है। वैसे ये रसोईघर अतिथियों की संख्या में वृद्धि करती है।
लाल किताब के अनुसार चन्द्रमा के उपाय क्यों, कब और कैसे!
लाल किताब के चन्द्र ग्रह के उपाय हमें क्यों करने चाहिए? ऐसी कौन सी समस्याएं हैं, जिनके लिए हमें लाल किताब के उपाय करने चाहिए? समस्याओं का विवरण तथा कुंडली में कैसे पता करें हमें कौन से घर या ग्रह के उपाय करने चाहिए? आदि के बारे में वर्णन! यदि आपको वीडियों अच्छी लगे तो चैनल को लाईक व सब्सक्राइब करना न भूले-

3-गैस का चूल्हा या कुकिंग रेंज को रसोई घर के दक्षिण पूर्वी (SE) कोने में रखा जाना चाहिये।
4-किसी भी स्थिती में घर के ईशान (NE) हिस्से में चूल्हे का प्रबन्ध नहीें करना चाहिये। ऐसा करने से धन की हानि होती है व पुत्र संतान के बीमार होने की संभावना रहती है, यदि पुत्र संतान नहीं है तो उसके होने की संभावना समाप्त हो जाती है।
 लेखक-संजय कुमार गर्ग  sanjay.garg2008@gmail.com (All rights reserved.)
5-रसोई में खाना बनाते समय गृहणी का मुंह पूर्व (E) दिशा की ओर होना चाहिये।
6-बाहर के दरवाजे से चूल्हा नहीं दिखायी देना चाहिये।
7-पानी संग्रहित करने के उपकरण जैसे आर ओ, पानी फिल्टर, मटका, जग आदि का सही स्थान उत्तर-पूर्व (NE) होता है।
8-सिंक (बर्तन साफ करने का स्थान) का उचित स्थान दक्षिण (S) दिशा है।
9-बिजली से चलने वाले उपकरण रखने की दिशा दक्षिण-पूर्व (SE) या दक्षिण (S) दिशा उचित है।
10-फ्रिज पश्चिम (W), दक्षिण (S), या दक्षिण-पूर्व (SE) दिशा में रखना चाहिये। यदि इसे दक्षिण-पश्चिम (SW) दिशा में फ्रिज दीवार से 1-2 फुट हटाकर रखा जा सकता है।

 लेखक-संजय कुमार गर्ग  sanjay.garg2008@gmail.com (All rights reserved.)
11-खाने के लिये प्रयोग की जाने वाली सामग्री जैसे अनाज, दालें, चीनी आदि को रखने का स्थान दक्षिण (S) या पश्चिमी (W) दीवार पर बनाना चाहिये।
12-वास्तु के अनुसार रसोईघर के बराबर में शौचालय नहीं होना चाहिये।
13-रसोई का दरवाजा उत्तर-पूर्व (NE) या पश्चिम (W) दिशा में खुलना चाहिये।
14-एग्जास्ट फैन (Exhaust Fan) पूर्वी (E) या उत्तरी (N) दिशा की दीवार पर होना चाहिये।
 
15-जहां तक संभव हो रसोई घर में पूजा का स्थान नहीं होना चाहिये।
-लेखक-संजय कुमार गर्ग  sanjay.garg2008@gmail.com (All rights reserved.)
  [पाठकगण! यदि उपरोक्त विषय पर कुछ पूछना चाहें तो कमेंटस कर सकते हैं, या मुझे मेल कर सकते हैं!]            (चित्र गूगल-इमेज से साभार!)

ज्योतिष व वास्तु पर आलेख-
नीति पर आलेख-
विदुर नीति के अनुसार लक्ष्मी किस पर कृपा करती हैं!
कथाएं भी पढ़िये-

17 comments :

  1. वास्तु से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी ... आभार साझा करने के लिए ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. आदरणीय दिगम्बर जी, ब्लॉग पर आने व् कमेंट्स करने सादर आभार!

      Delete
  2. Replies
    1. कमेंट्स के लिए धन्यवाद! आदरणीय चतुर्वेदी जी!

      Delete
  3. your article is more informative,and useful manner.i have more interest in vaastu ,also practicing it,your article is one of my guidance,i eagerly waiting for your next article.thanks for sharing.

    ReplyDelete
    Replies
    1. आदरणीय श्रवण जी, सादर नमन! ब्लॉग को पढ़ने व् मुझे उत्साहित करने के लिए सुन्दर सा कमेंट्स लिखने के लिए सादर आभार!

      Delete
  4. bahut achhaa laga artical

    ReplyDelete
    Replies
    1. With thanks for Comments! Suraj Ji!

      Delete
  5. आरो या पानी संग्रहित को south मे रखने पर क्या होगा please reply

    ReplyDelete
    Replies
    1. राहुल जी! पानी रखने सही दिशा NE, North होती है, क्योंकि ये जलतत्व की दिशा हैं, अब दक्षिण में रखने का प्रश्न है इस दिशा में पानी रखने के गृहस्वामी या गृहस्वामिनी के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ेगा और शुक्र की दिशा होने के कारण, पति-पत्नी में तनाव व मतभेद भी हो सकते हैं!

      Delete
  6. आरो या पानी संग्रहित को south मे रखने पर क्या होगा please reply

    ReplyDelete
    Replies
    1. राहुल जी! पानी रखने सही दिशा NE, North होती है, क्योंकि ये जलतत्व की दिशा हैं, अब दक्षिण में रखने का प्रश्न है इस दिशा में पानी रखने के गृहस्वामी या गृहस्वामिनी के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ेगा और शुक्र की दिशा होने के कारण, पति-पत्नी में तनाव व मतभेद भी हो सकते हैं!

      Delete
  7. Main gate ke samne kitchan hone se bura asar hoga?
    Agarbura assar ka swastik se nidan ha. Pl.reply

    ReplyDelete
    Replies
    1. नमस्कार जी, आप किचिन पर एक झीना परदा डाल कर रख सकते हैं, गेट पर स्वास्तिक-गणेश जी की प्रतिमा अनेकों वास्तु दोष को दूर कर सकती हैं!

      Delete
  8. मैं नया मकान बनवा राहा हुं जिसमें पुजा घर के दरवाजे दक्षिण दिशा में है उत्तर और दक्षिण में जगह नहीं है कुछ उपाय बतानेकष्ट करें।

    ReplyDelete
    Replies
    1. आदरणीय राकेश जी! पूजा करते समय आपका मुख् किस और रहता है, किसी भगवान की प्रतिमा का मुख् किस ओर है? यदि उपरोक्त बातें ठीक हैं तो दरवाजे की दिशा को नजरअंदाज किया जा सकता है, इसके लिए आप मेरा पूजा घर के लिए वास्तु का आलेख पढ़िए! धन्यवाद!

      Delete
  9. Very nice article... thanks you..

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणी मेरे लिए बहुमूल्य है!